तुम अंजलि में भर लेना – देशभक्ति गीत

मातृभूमि का कर्ज चढ़ा था उसको आज उतार चला तेरा साथ न दे पाया हूँ अब ये कर्ज़ उधार रहा बाकी है जो भी हिसाब सब अगले जन्म में कर लेना मैं कतरा-कतरा टपकूंगा, तुम अंजलि में भर लेना।

हिंदुस्तानियों की चाहत है

ज़हर जुबान पर, हाथों में उनके पत्थर है, नमकहरामों से ये मुल्क बहुत आहत है, जिनके खून में हिंदुस्तान कुछ नहीं बाकी, उन्हें दुत्कार दें, हिंदुस्तानियों की चाहत है...

हम जलाएंगे दिए फिर आज उनको याद करके – A Tribute To The Indian Soldiers

कहना मुझे इतना की बस, 'जीवन-मरण सबका अटल, पर देश की खातिर मरा वह प्राण है कितना विमल, हे देश के प्रहरी सजग, तुम देश की आवाज हो, हर हृदय की धड़कन बने, माँ भारती की नाज़ हो।' तुम बने वह रौशनी जो घन तिमिर को मात कर दे, हम जलाएंगे दिए फिर आज उनको याद करके।

‘जज्बा – India’s Massage To The World’

India's massage to the world

' वतन के काम आ जाएँ ', नहीं जज्बा अगर दिल में, फकत इक लाश है वो शख्स फिर बाकी बचा क्या है ?. तेरे नापाक हाथों में नहीं हिम्मत इसे छू ले, कि कसकर जांच ले फिर से तिरंगे में वजन क्या है ?... दिखा देंगे तुझे दुनिया हमारे देश की ताकत हमारे मुल्क … Continue reading ‘जज्बा – India’s Massage To The World’