झट से कह दो प्यार नहीं है – गीत

एक बात तुमको बतला दूँ कह दो तो मैं गाँठ लगा दूँ तेरे कारण दुनियाँ छोड़ूँ मुझको यह अधिकार नहीं है। झट से कह दो प्यार नहीं है।।

रेत पर पदचिन्ह तेरे – गीत

जिंदगी के रास्तों पर सैकडों दुश्वारियां हैं मुश्किलों से जूझने की क्या तेरी तैयारियाँ हैं पथ जरा समतल मिला तुम भूल बैठे कंटकों को लक्ष्य को पाने से पहले लाख जिम्मेदारियां हैं धैर्य खोकर चाहते हो भाग्य का चमके सितारा। रेत पर पदचिह्न तेरे और सागर का किनारा।।

तुम अंजलि में भर लेना – देशभक्ति गीत

मातृभूमि का कर्ज चढ़ा था उसको आज उतार चला तेरा साथ न दे पाया हूँ अब ये कर्ज़ उधार रहा बाकी है जो भी हिसाब सब अगले जन्म में कर लेना मैं कतरा-कतरा टपकूंगा, तुम अंजलि में भर लेना।

जीवन-पथ पर, धीरे-धीरे, राही पाँव बढ़ाए – एक गीत

वादे झूठे, कसमें झूठीं, झूठा प्रेम निभाया फिर भी न जानें, क्यों नहीं माने, ऐसा दिल भरमाया दिल की बातें, दिल ही जाने, कौन इसे समझाए जीवन-पथ पर, धीरे-धीरे, राही पाँव बढ़ाए

आज मेरे स्वप्न का आधार दुनियां मांगती है – The world wants my dream

एक टूटी नाव को कबसे अकेले खे रहा हूँ, इस समंदर में जहाजों से मगर आगे रहा हूँ, मैं फंसा मझधार में, पतवार दुनियां मांगती है, आज मेरे स्वप्न का आधार दुनियां मांगती है।