मैं चमन का फूल हूँ – The Massage Of The Flower To The World

मैं चमन का फूल हूँ, कुचला गया तो क्या हुआ, हर तरफ फैली महक, मसला गया तो क्या हुआ। 'जिंदगी है जंग', मेरे रंग चढ़कर बोलती है, मेरी हर इक साँस सारे चमन में रस घोलती है, रौशनी हो या अँधेरा, मैं सदा खिलता रहा, ग्रीष्म, वर्षा, शीत का अनुभव मुझे मिलता रहा।

तूफ़ान की जानिब – The Journey against Storm

बड़े लोगों की ऊँचाई जो दिखती है, नहीं होती, दिखावे में चले आए हैं जीते, सच छुपाने को। हमीं हैं अन्न के दाता मगर फिर भी हमीं भूखे, किसानों ने कहा मायूस हो, अपने फ़साने को।

हो सके तो याद कर लेना मुझे भी- Don’t Forget Me

Don't forget me

आज तक का साथ था तेरा हमारा, आज चमका भाग्य का तेरा सितारा, चाँद की ख्वाहिस सभी को रास आती, पर दिये की रोशनी पर हक़ हमारा, हो मुबारक चांदनी के पल तुझे भी, हो सके तो याद कर लेना मुझे भी।

‘क्षमता विकसित करनी होगी-Being Capable Is A Must’

Being Capable Is A Must

कदम बढाकर चलने की क्षमता विकसित करनी होगी तुम दीपक हो जलने की क्षमता विकसित करनी होगी। चाहें जितना सम्मान मिले चाहें हो पीना पड़ा जहर मन को विचलित मत होने दो रखो मुख पर मुस्कान सरल मानव तुम हो मानवता की आधारशिला रखनी होगी तुम दीपक हो जलने की क्षमता विकसित करनी होगी।

‘चलते रहे…. Nothing can stop me’

The Way Continues

आंधियों ने जोर से झकझोर कर देखा मुझे, ग्रीष्म,वर्षा,शीत मुझको आजमाते ही रहे, किन्तु फिर भी कर सके ना आज तक विचलित मुझे, ठोकरें खाई मगर फिर भी संभल चलते रहे। मंजिलों से हो न हो इन रास्तों से प्यार है, आदमी बनने की ख्वाहिश, दर्द हर स्वीकार है, मानता हूँ डगमगाना भाग्य में मेरे … Continue reading ‘चलते रहे…. Nothing can stop me’

‘तुमको दुर्गा बनना होगा-Girls! Search Yourselves’

Girls! Search Yourselves

बस मोंम नहीं तुम ज्वाला भी ये सिद्ध आज करना होगा, हे भारत माँ की ललनाओ तुमको दुर्गा बनना होगा । इतिहास गवाही देता है पापी समाज उन्मत्त हुआ, तुम काली बन अवतरित हुई दुनिया को संकट मुक्त किया, अब तुम संकट में घिरी हुई खुद ही सब कुछ करना होगा, हे भारत माँ की … Continue reading ‘तुमको दुर्गा बनना होगा-Girls! Search Yourselves’