‘एक बागबान चाहिए – I Need Your Support’

लहज़े में है नज़ाकत, आवाज़ में जादू , अब आपको क्योंकर कोई वरदान चाहिए। कुछ यूँ भटक गया है इंसान आज का, माँ-बाप को ठुकराया, भगवान चाहिए।

हो सके तो याद कर लेना मुझे भी- Don’t Forget Me

Don't forget me

आज तक का साथ था तेरा हमारा, आज चमका भाग्य का तेरा सितारा, चाँद की ख्वाहिस सभी को रास आती, पर दिये की रोशनी पर हक़ हमारा, हो मुबारक चांदनी के पल तुझे भी, हो सके तो याद कर लेना मुझे भी।

‘तुम किधर हो – It’s Time To Share Love’

It's time to share love

चार दिन की चांदनी में, दो दिवस ऐसा निकालो, है तमन्ना तुम मुझे कुछ, स्नेह दे दो, स्नेह पा लो, खो न जाए ये उजाला, फिर अँधेरे में सफ़र हो, चार दिन की जिंदगी है, मैं यहाँ हूँ, तुम किधर हो?

‘आधार न जाने क्या होगा? How To Be Positive Towards Relations’

Being positive towards relations

है आशा में विश्वास बहुत, तेरे मिलने की आस बहुत, यदि नहीं जगह इस धरती पर, उड़ने को यह आकाश बहुत, दुनियाँ की बातें कौन करे, ये जलती है तो जलने दो, अपने अंदर भी प्रेम भावना, पलती है तो पलने दो, तुम मिले अगर मेरे दिल का, उद्गार न जाने क्या होगा? इस दुनिया की निष्ठुरता का, आधार न जाने क्या होगा?

‘इतना भी तुम नीचे न गिरो -The Right Way Of Living’

The Right Way of Living

तुम जान गए ये सत्य सखे, जीवन की राह अधूरी है, पर तुममे जो छमता विशिष्ट, दिखलाना बहुत जरुरी है, फिर आँख मुंदने से पहले, जो कुछ होना है हो जाये, इतना भी तुम निचे न गिरो, उठाना ही दूभर हो जाये।

‘क्षमता विकसित करनी होगी-Being Capable Is A Must’

Being Capable Is A Must

कदम बढाकर चलने की क्षमता विकसित करनी होगी तुम दीपक हो जलने की क्षमता विकसित करनी होगी। चाहें जितना सम्मान मिले चाहें हो पीना पड़ा जहर मन को विचलित मत होने दो रखो मुख पर मुस्कान सरल मानव तुम हो मानवता की आधारशिला रखनी होगी तुम दीपक हो जलने की क्षमता विकसित करनी होगी।

‘नादान बने फिरते है लोग – There Is No Face Behind Mask’

There Is No Face Behind Mask

नादान बने फिरते है लोग। चलना-फिरना, पीना-खाना, सोकर जगना फिर सो जाना, यह तो लक्षन चौपायों के, इंसान बने फिरते है लोग, नादान बने फिरते है लोग। धोखा देना उसने जाना, जीवन का मूल्य न पहचाना, ऊँची कीमत पर बिकने का, सामान बने फिरते हैं लोग, नादान बने फिरते हैं लोग। जब दुःख में हो … Continue reading ‘नादान बने फिरते है लोग – There Is No Face Behind Mask’

‘चलते रहे…. Nothing can stop me’

The Way Continues

आंधियों ने जोर से झकझोर कर देखा मुझे, ग्रीष्म,वर्षा,शीत मुझको आजमाते ही रहे, किन्तु फिर भी कर सके ना आज तक विचलित मुझे, ठोकरें खाई मगर फिर भी संभल चलते रहे। मंजिलों से हो न हो इन रास्तों से प्यार है, आदमी बनने की ख्वाहिश, दर्द हर स्वीकार है, मानता हूँ डगमगाना भाग्य में मेरे … Continue reading ‘चलते रहे…. Nothing can stop me’

‘मील का आखिरी पत्थर – The Massage Of The Milestone’ 

दीन-दुनिया छोड़कर ये राह तुमने ही गही थी, लाख खाई ठोकरें पर बात मानी जो सही थी, क्या अनोखी बात क्योकर आज तेरे पाँव डगमग, 'मैं अडिग चट्टान हूँ', यह बात तुमने ही कही थी, लक्ष्य के नजदीक आ मत लौटने का पथ विचारो, मील का मै आखिरी पत्थर जरा मुझको निहारो।