माँ शारदे! वर दे – सरस्वती वंदना

माँ शारदे! वर दे

इस धरा पर जो तेरे बालक दुःखी या दीन हों, कर कृपा करुणामयी, कोई कहीँ ना हीन हो, हर तरफ बस प्रेम का माहौल, चहुँदिश भक्ति हो, कर्तव्य का हो बोध, सबमें चेतना की शक्ति हो। माँ शारदे! वर दे, हमारा धर्म में विश्वास हो, हर घड़ी, हर छड़ हमें निज-कर्म का आभास हो।